इक जोगी आया नी सईयो ॐ नमों शिव करदा ।।
ओ रसता पुछदा ए सईयो माँ रत्नो दे घर दा ।।

नूरी मुखडा चमका मारे ,दिल मेरा भर माया ।।
सोने रंगीया भाभरीया ने कैसा जादू पाया ।।
मैं तकदी रह गई नी , उसदा मुखड़ा सुरज वरगा ।।

माँ रत्नो दे दर ते ,आके उसने अलख जगाई ।।
वेख के बालक माता , रत्नो अन्दरो बाहर आई ।।
तकीया जग सारा वे जोगीया कोई तेरे वरगा ।।

मिटीया मिटीया गल्ला सुनके जोगी दा दिल हिलीया ।
मेरा जग वि कोई नही तेरा सहारा मिलीया ।।
मैं नौकर बन जावा ,जेहडा प्यार मेरे नाल करदा ।।

बाबा बालक नाथ भजन