पौनाहारियां डोरा तेरे उते सुटियाँ,
दुधाधारियां मौजा बड़ियाँ मैं लुटिया,
डोरा तेरे ते सुटियाँ,
मैं मौजा बहुत लुटिया,
पौनाहारीया डोरा तेरे……

जो भी तेरी भगती करदा,
तू ते खाली झोलियाँ भरदा,
झोली वालिया देवी,
भर भर मुठियाँ,
पौनाहारी डोरा तेरे ,,,,,,,,,

तेनु हां मैं मंदा साईयाँ,
पुठियाँ भी तू सिद्धियाँ पाइयां,
धुनें वालेया होइयां,
दुखा दियां छुटियाँ,
पौनाहारी डोरा तेरे ,,,,,,,,,

जद बाबा तू मौज ध्यावे,
राज फकीरा तो करवावे,
गुफा वालेया तू ते,
गंडदा ऐ टूटीया,
पौनाहारी डोरा तेरे ,,,,,,,,,

रोज ते बलिहार जोगियां,
करदे एह पुकार जोगियां,
चिमटे वालेया हरीया,
कर वेला सुकियाँ,
पौनाहारी डोरा तेरे ,,,,,,,,,

Leave a Reply