dhim dhim damru bhjaawe laaha maar jogiyan

डिम डिम डमरू भजावे लाहा मार जोगियां,
हे हमार जोगियां हो हमार जोगियां,
डिम डिम डमरू भजावे लाहा मार जोगियां,

शीश गंगा जी के धार सोहे चन्द्रमा लिल्लाहर,
अंग भभूति रमावे लाहा मार जोगियां,
डिम डिम डमरू भजावे लाहा मार जोगियां,

संग भुत बरियात और जोगनी जमात,
भूढ़े बस हां चढ़ आवे लाहा मार जोगियां,
अंग भभूति रमावे लाहा मार जोगियां,
डिम डिम डमरू भजावे लाहा मार जोगियां,

पहिरे नागरी पुछाला हाथ कान पेहरि निहाला,
हर दम राम नाम गावे लखा मार जोगियां ,
डिम डिम डमरू भजावे लाहा मार जोगियां,

सब लोक के जो देवा करे सारा जग सेवा,
के शिव शंकर खावे लखा मार जोगियां,
डिम डिम डमरू भजावे लाहा मार जोगियां,

Leave a Comment