आज म्हारा मंदरीया मे आओ श्री नाथ जी ॥

गोपी ग्वाल साथी संगी लाओ श्री नाथ जी ॥
हरस हरस म्हारा घर मे पधारो द्वारिका रा नाथ जी
आज म्हारा मंदरीया मे आओ………

नंद के प्यारे मुरली वाले यशोदा के लाल जी ॥
मनभावन तेरी सूरत प्यारी गोविन्द गोपाल जी
आज म्हारा मंदरीया मे आओ………

हलुआ पूरी भोग लगाये माखंन मिश्री साथ जी ॥
जल्दी आओ भोग लगाओ मिरा के गोपाल जी
आज म्हारा मंदरीया मे आओ……….

दर पे तेरे आये सवाली झोली भर दो आज जी ॥
अब मेरी भी बिगड़ी बनादो लड्डू गोपाल जी
आज म्हारा मंदरीया मे आओ………..

कृष्ण भजन