मस्त महीना सावन का यह आया है……
शिवरात्रि त्यौहार भी पावन लाया है……
शिव जटाओं से निकली मां गंगा के……
पावन जल से शिवजी को नहलाया है।।

हर तरफ ही शोर है बम बम भोले का……
अजब नजारा रंग बिरंगी कावड़ों का……
नए रंग रूप में कावडों को सजाया है……
शिवरात्रि त्यौहार भी पावन लाया है।।

शिव भक्तों में गजब की मस्ती छाई है……
बम बम की आवाज सभी ने लगाई है……
नाचते गाते कावड़ जल को चढ़ाया है……
शिवरात्रि त्यौहार भी पावन लाया है।।

हरियाली का मौसम सबको भाता है……
सावन भोले को जल चढ़ाने आता है……
कुदरत ने इस धरती को महकाया है……
शिवरात्रि त्यौहार भी पावन आया है।।

रिमझिम बदरा बरसे काली घटा छाई……
मोर नाचते झूम के मस्ती है छाई……
शिव की कृपा से भाव” श्याम” ने गाया है……
शिवरात्रि त्यौहार भी पावन आया है।।

मस्त महीना सावन का यह आया है……
शिवरात्रि त्यौहार भी पावन लाया है……
शिव जटाओं से निकली मां गंगा के……
पावन जल से शिवजी को नहलाया है।।

mast maheena saavan ka yah aaya hai bhajan p-page.com inglish (English) mein HindEE (Hindi) mein bhajan liriks (Lyrics) (Likhit me Bhajan Geet ke bol)

mast maheena saavan ka yah aaya hai……
shivaraatri tyauhaar bhee paavan laaya hai……
shiv jataon se nikalee maan ganga ke……
paavan jal se shivajee ko nahalaaya hai..

har taraph hee shor hai bam bam bhole ka……
ajab najaara rang birangee kaavadon ka……
nae rang roop mein kaavadon ko sajaaya hai……
shivaraatri tyauhaar bhee paavan laaya hai..

shiv bhakton mein gajab kee mastee chhaee hai……
bam bam kee aavaaj sabhee ne lagaee hai……
naachate gaate kaavad jal ko chadhaaya hai……
shivaraatri tyauhaar bhee paavan laaya hai..

hariyaalee ka mausam sabako bhaata hai……
saavan bhole ko jal chadhaane aata hai……
kudarat ne is dharatee ko mahakaaya hai……
shivaraatri tyauhaar bhee paavan aaya hai..

rimajhim badara barase kaalee ghata chhaee……
mor naachate jhoom ke mastee hai chhaee……
shiv kee krpa se bhaav” shyaam” ne gaaya hai……
shivaraatri tyauhaar bhee paavan aaya hai..

mast maheena saavan ka yah aaya hai……
shivaraatri tyauhaar bhee paavan laaya hai……
shiv jataon se nikalee maan ganga ke……
paavan jal se shivajee ko nahalaaya hai..