देव न कलयुग में कोई ऐसा,

रूप है जिनका हनुमत जैसा,
देव न कलयुग में कोई ऐसा,
जिनके रूप में बैठी बाईसा,
बाबोसा… बाबोसा…,
प्यारा सा बाबोसा का मुखड़ा ,
ऐसे लागे ज्यो चांद का टुकड़ा,
भक्तो के मन भाये बाबोसा,
बाबोसा… बाबोसा…
             
सूरज सा तेज मुख पे बरस रहा नूर है,
चुरू वाले बाबोसा जग में मशहुर है,
कोई माने या ना माने,
हम तो बस है इनके दीवाने,
सब कुछ मिला और मांगू क्या,
रूप है जिनका…


बाबोसा मतवाले, इनका दीदार कर,
दिल मे बसाले, बाबोसा का ध्यान धर,
तन में मन मे इस जीवन मे,
दिलबर तू ही धरती गगन में,
विभु को भक्ति से सब मिला
रूप है जिनका…

रूप है जिनका हनुमत जैसा,
देव न कलयुग में कोई ऐसा,
जिनके रूप में बैठी बाईसा,
बाबोसा… बाबोसा…,
प्यारा सा बाबोसा का मुखड़ा ,
ऐसे लागे ज्यो चांद का टुकड़ा,
भक्तो के मन भाये बाबोसा,
बाबोसा… बाबोसा…
             
सूरज सा तेज मुख पे बरस रहा नूर है,
चुरू वाले बाबोसा जग में मशहुर है,
कोई माने या ना माने,
हम तो बस है इनके दीवाने,
सब कुछ मिला और मांगू क्या,
रूप है जिनका…

roop hai jinaka hanumat jaisa

roop hai jinaka hanumat jaisa,
dev n kalayug me koi aisa,
jinake roop me baithi baaeesa,
baabosaa… baabosaa…,
pyaara sa baabosa ka mukhada ,
aise laage jyo chaand ka tukada,
bhakto ke man bhaaye baabosa,
baabosaa… baabosaa…
             
sooraj sa tej mukh pe baras raha noor hai,
churoo vaale baabosa jag me mshahur hai,
koi maane ya na maane,
ham to bas hai inake deevaane,
sab kuchh mila aur maangoo kya,
roop hai jinakaa…


baabosa matavaale, inaka deedaar kar,
dil me basaale, baabosa ka dhayaan dhar,
tan me man me is jeevan me,
dilabar too hi dharati gagan me,
vibhu ko bhakti se sab milaa
roop hai jinakaa…

roop hai jinaka hanumat jaisa,
dev n kalayug me koi aisa,
jinake roop me baithi baaeesa,
baabosaa… baabosaa…,
pyaara sa baabosa ka mukhada ,
aise laage jyo chaand ka tukada,
bhakto ke man bhaaye baabosa,
baabosaa… baabosaa…
             
sooraj sa tej mukh pe baras raha noor hai,
churoo vaale baabosa jag me mshahur hai,
koi maane ya na maane,
ham to bas hai inake deevaane,
sab kuchh mila aur maangoo kya,
roop hai jinakaa…

Watch Bhajan Video roop hai jinaka hanumat jaisa,

Leave a Reply