तुमसे बात करते है इनायत है तेरी बाबा,
तुम्हारे पास रहते है इनायत है तेरी बाबा,
इनायत है तेरी बाबा,रहमत है तेरी बाबा,

करे कितना ख्याल तू हमारे सुख दुःख का हर पल,
तेरी मुश्कान पे बाबा होते है दिल में भी हलचल,
तू हमें भूलता है यह रहमत है तेरी बाबा
हमें गले लगता है ये रहमत है तेरी बाबा,
इनायत है तेरी बाबा……

तेरे रहमो का कर्म पे ही उजाला हस के होता है,
तुम्हारा प्रेमी हो निडर चैन की नींद सोता है,
तुम्हारी पहरेदारी है ये रहमत है तेरी बाबा,
तू लेता जिमेदारी है ये रहमत है तेरी बाबा,
इनायत है तेरी बाबा…..

मिला का साथ जबसे हम बड़े मस्ती में जीते है,
संग चोखानी के हम भी नाम का प्याला पिते है,
निभाता रिश्तो का बंधन ये रहमत है तेरी बाबा,
तेरे वश में ही है गौतम ये रहमत है तेरी बाबा,
इनायत है तेरी बाबा……

Leave a Reply