shyam bhulawe khatu chalo khatu ka mela aya

श्याम बुलावे खाटू चलो,
अरे लकी मेरो लकी मेरो खाटू में चालो,
अरे सडका दे विच नाच के धूम मचा लो,
श्याम बुलावे खाटू चलो,
खाटू का मेला आया,
श्याम बुलावे खाटू चलो,

अरे हाथा में लिए निशान नंगे नंगे पाओ,
शाले पड़ गये पेरो में बिकुल मत गभराओ,
श्याम बुलावे खाटू चलो….

ट्रैकर में झांकी किथे रथ में चाली,
पीछे पीछे भगत चाले तू सबका सवाली,
श्याम बुलावे खाटू चलो……

उछल कूद करदे दे डुबकी श्याम कुंद में नहावेगे,
भीड़ पड़ो जितनी भी चाहे हम तेरे दर्शन करके आवे गये,
श्याम बुलावे खाटू चलो……

अरे लाखादात्री सांवरिया की मूर्ति निराली,
अरे होती नज़रे मेरावाली जिथे जिथे चाली,
श्याम बुलावे खाटू चलो…..

Leave a Comment