main khatu vale se maangu kya jab bin bamange hi paya hai

मैं खाटू वाले से मांगू क्या जब बिन बामंगे ही पाया है
मैं तेरा दर न छोडूंगा मुझे तेरा सहारा है

मैं जब भी आया दर तेरे मुझे एक तू ही भय है
तेरी चौखट ही बाबा मैंने सब कुछ ही पाया है

मैंने देखा तेरा जलवा तू गिरतों को उठता है
तू जिसपे मोर छड़ी धार दे वो भाव सागर तर जाता है

आसरा तेरा है बाबा भरोसा तेरा पाया है
मुझे अपनों ने ठुकराया तूने रिश्ता निभाया है

ना धन दौलत की है आशा ना कोई ही अभिलाषा है
संजय संग सन्नी भी बाबा तेरे दरबार आया है

Leave a Comment