हम पे करदो किरपा राधा रानी कब से दर पे तुम्हारे खड़े है,
दान भगति का दे महारानी कब से झोली पसारे खड़े है,

प्यार पाने को तुमसे तुम्हारा हमने छोड़ दिया जग सारा,
अब तो देदो हम प्यार अपना चरणों में हम तुम्हारे पड़े है,
हम पे करदो किरपा राधा रानी

चाँद सूरज सी ज्योति तुम्हारी,
जिससे रोशन है दुनिया सारी,
ब्रह्मा विष्णु और शिव भी तुम्हारे,
दर पे शीश झुकाये खड़े है,
हम पे करदो किरपा राधा रानी

करदो भगतो पे तुम मेहरबानी,
गायेगे गुण तुम्हरा राधा रानी,
शरधा माँ हमारे ये नैना दर्ज़ के लिये ही खड़े है,
हम पे करदो किरपा राधा रानी

Leave a Reply