duniya se mera dil tut geya apna lo prabhu main sharn me teri

दुनिया से मेरा दिल टूट गया अपना लो प्रभु मैं शरण में तेरी,
मैं द्वार खड़ा दास हु तेरा हे श्याम प्रभु मैं शरण में तेरी,

हारा हु मैं जग दुनिया के झूठी शान और शोकथ से,
जग से मिली इनसे नजर जाऊ मैं कैसे चौकठ से,
तेरी दया सगल दीवाना
दुनिया से मेरा दिल टूट गया अपना लो प्रभु मैं शरण में तेरी,

सुनके के तेरी रेहमत के चर्चे दरबार तेरे आया हु,
कुछ भी नहीं है पास मेरे अंसियो के पुष्प लाया हु,
प्यासी नजर तेरे दर्शन की,
दुनिया से मेरा दिल टूट गया अपना लो प्रभु मैं शरण में तेरी,

मीरा की दीवानी भक्ति पर विष को भी अमृत बनाया,
नानी का भरने भात प्रभु आवे जन करके तू आया,
लीला तेरी सारा जग जाने,
दुनिया से मेरा दिल टूट गया अपना लो प्रभु मैं शरण में तेरी,

अपना नहीं इस दुनिया में टुटा हुआ ने तुझको अपनाया,
तेरी शरण हु मस्तानी बाबा के चौकठ पर आया,
करदो उस पर दया अपनी,
दुनिया से मेरा दिल टूट गया अपना लो प्रभु मैं शरण में तेरी,

Leave a Comment