Search Results for: शिव भजन

अपने दरबार में तू बुलाले शिव भजन लिरिक्स-पी-पेज.कॉम इंग्लिश में हिंदी में भजन् लिरिक्स

महाकाल बाबा उज्जैन वाले…..जीवन मेरा तेरे हवाले…..दर दर भटका पड़ गए छाले…..मुझको तू उज्जैन बुलाले…..मैं तो ना जाऊँ किसी दर पे…..तू बुलाले बुलाले बुलाले तू बुलाले…..अपने दरबार में तू बुलाले…..तू बुलाले बुलाले बुलाले तू बुलाले…..अपने दरबार में तू बुलालें।। साँचा दरबार है करलो दीदार है…..बेल पत्री तू आके चढ़ा दे…..तेरी झोली भरे हाथ सर पर …

अपने दरबार में तू बुलाले शिव भजन लिरिक्स-पी-पेज.कॉम इंग्लिश में हिंदी में भजन् लिरिक्स Read More »

आये है दिन सावन के शिव भजन -पी-पेज.कॉम इंग्लिश में हिंदी में भजन् लिरिक्स

आये है दिन सावन के……गंगा जल से भर के गगरिया……गंगा जल से भर के गगरिया……शिव को कावड़ चढ़ावन के……आये हैं दिन सावन के……आये हैं दिन सावन के।। यही है दुनिया में देव अकेला……लगे है यहाँ कावड़ियो का मेला……आये है दिन शिव भक्तो के……आये है दिन शिव भक्तो के……हर हर बम बम गावन के……आये हैं दिन …

आये है दिन सावन के शिव भजन -पी-पेज.कॉम इंग्लिश में हिंदी में भजन् लिरिक्स Read More »

काशी नगरी से आए है शिव शम्भू भजन लिरिक्स, Bhajan Lyrics with Video

हिंदी भजन लिरिक्स, भजन के बोल हिंदी में – भजन के बोल , भजन लिरिक्स-पी-पेज.कॉम(p-page.com) सुनके भक्तो की पुकार….होके नंदी पे सवार….काशी नगरी से….आए है शिव शम्भू….सुनके भक्तो की पुकार…. भस्मी रमाए देखो….डमरू बजाए….कैसा निराला भोले….रूप सजाए….गले में है सर्पो का हार….होके नंदी पे सवार….काशी नगरीं से….आए है शिव शम्भू….सुनके भक्तो की पुकार…. मृगछाला पहने …

काशी नगरी से आए है शिव शम्भू भजन लिरिक्स, Bhajan Lyrics with Video Read More »

चल रे कावड़िया शिव के धाम भजन लिरिक्स, Bhajan Lyrics with Video

हिंदी भजन लिरिक्स, भजन के बोल हिंदी में – भजन के बोल , भजन लिरिक्स-पी-पेज.कॉम(p-page.com) चाहे छाए हो बादल काले….चाहे पाँव में पड़ जाय छाले….चल रे कावड़िया शिव के धाम….चाहे आग गगन से बरसे….चाहे पानी को मन तरसे….चल रे कावडिया शिव के धाम….चल रे कावडिया शिव के धाम….बोल बम बोल बम बोल बम बोल….तेरा कुछ …

चल रे कावड़िया शिव के धाम भजन लिरिक्स, Bhajan Lyrics with Video Read More »

कैलाश वासी शिव सुख रासी सुनते नाथ सबकी करुणा, राजस्थानी भजन लिरिक्स, भजन लिरिक्स

कैलाश वासी शिव सुख रासी….सुनते नाथ सबकी करुणा….दिल की दुविधा दूर करो….बम भोलेनाथ का लो शरणा।। एक दिन दानव सुर सब मिलकर….शिर सिंधु का मंथन किया….रत्न शिरोमणि निकले चोवदा….एक एककर बांट दिया….इमरत धारण कियो देवता….जहर हलाहल शिव ने पीया….नीलकंठ ज्यारो नाम धराकर….कैलाश का फिर रस्ता लिया….भोले भंडारी शंकर का जी….ध्यान निरंतर नित धरणा….मन की दुविधा …

कैलाश वासी शिव सुख रासी सुनते नाथ सबकी करुणा, राजस्थानी भजन लिरिक्स, भजन लिरिक्स Read More »

कालों के काल महाकाल को मनाएंगे, शिवजी भजन लिरिक्स, लिरिक्स

कालों के काल महाकाल….को मनाएंगे….उज्जैन नगरी में….शीश झुकाएंगे।। भांग धतूरा का….भोग लगाते है….बिल्वपत्ती जिनके….सिर पर चढ़ाते हैं….दूध दही से….स्नान कर आएंगे….कालो के काल महाकाल….को मनाएंगे।। शीश पर चंदा जिनकी….जटा में गंगा….गले में नाग जिनके….देखो भुजंगा….दर्शन करने को….उज्जैन नगरी जाएंगे….कालो के काल महाकाल….को मनाएंगे।। भस्म में लगाए भोला….डमरू बजाए….डमरू बजाए भोला….डमरू बजाए….डमरू की ताल पर….वो सबको …

कालों के काल महाकाल को मनाएंगे, शिवजी भजन लिरिक्स, लिरिक्स Read More »