Search Results for: बावा लाल दयाल भजन

Sample Page

Lyrics & Songs sherpe aaja maiya tu darsh dikha ja maiya माँ शारदे भवानी है तू बड़ी कल्याणी ,ज्योति वाली मेहरा… Read more Posted in bhajan Lyrics Sangrah  •  dharti pe shirdi धरती पे शिरडी जैसे अयोध्या जैसे है वृन्दावन अवध पति… Read more Posted in bhajan Lyrics Sangrah  •  he prabhu rah dikhao हे प्रभु राह दिखाओ अब …

Sample Page Read More »

jihnu lal dwara mil jaawe ohnu ram sahara mil janda

जह्नु लाल द्वारा मिल जावे,ओहनू राम सहारा मिल जांदा,ओह्दी रुलदी जांदी नाइयाँ न इक रोज किनारा मिल जांदा,जह्नु लाल द्वारा मिल जावे, ओह भव सागर विच भटके न ओह मोह ममता विच अटके न ,ओह गरब जून विच लटके न ओहनू मुक्त द्वारा मिल जनदा ,जह्नु लाल द्वारा मिल जावे, ओह खेडन प्रेम दिन गलियां …

jihnu lal dwara mil jaawe ohnu ram sahara mil janda Read More »

main sewak haa satguru tera na bhul jai gareeb jaanke

आवाज मारदी कुटियाँ गरीब दी कदी ते फेरा पाओ सतगुर,बड़ी देर तो प्यासियां ने सदरा आओ जी घर आओ सतगुरु,आवाज मारदी कुटियाँ गरीब दी कदी ते फेरा पाओ सतगुर,बैठा पलका दी सहज विशाके विराजो बावा लाल आके,मैं सेवक हा सतगुरु तेरा न भूल जाइ गरीब जानके आउंदे जांदे तेरे सेवका दे हाथ मैं सुनेहा सदा …

main sewak haa satguru tera na bhul jai gareeb jaanke Read More »

dhan teri leela dhan shakati teri

धन तेरी लीला धन शक्ति तेरी,करदे रवागे सदा भगति तेरी,आये छड़ के दुनिया सारी सतगुरु बावा लाल जी,लेखे लावा गे जिंदगी सारी एह सतगुरु बावा लाल जी, करिये बखान की महिमा तेरी दा कोई अंत न कोई कारवार है,पोतक निराले तेरे सतगुरु प्यारे एह ता जान दा ही सारा संसार है,तेरी लीला बड़ी है न्यारी …

dhan teri leela dhan shakati teri Read More »

hathi ghode palki jai jai bawa lal di

हाथी घोड़े पालकी जय जय बावा लाल दी,तू भी एह्दे नाम दी सारे संकट टाल दी,हाथी घोड़े पालकी जय जय बावा लाल दी, बावा लाल दयाल है गुरु न हर सेवक है प्यारा,दुख दे भव सागर चो कर दिंदे भव थारा,है रेहमत दा सागर कोई चीज न एह्दे नाल दी,हाथी घोड़े पालकी जय जय बावा …

hathi ghode palki jai jai bawa lal di Read More »

tusa jag de ho vali jag tusa da swaali

तुसी जग दे हो वाली जग तुसा दा सवाली,डेरा भगता द्वारे तेरे ला लिया,बावा लाल जी ध्यान पुर वालेया, तुसा भेद उच्च नीच दा मिटाया है,सारे जग दा प्यार झोली पाया है,कोई लाल कह भुलावे सतगुरु कोई ध्यावे,किसे पीर तनु अपना बना लिया,तुसी जग दे हो वाली जग तुसा दा सवाली, तुसी रेख विच मार …

tusa jag de ho vali jag tusa da swaali Read More »